html in hindi part1-अपरेंटिस हटमल क्या है ?

हेल्लो दोस्तों आज के इस पोस्ट में आपको html in hindi part1 के बारे में बताया जा रहा है तो चलिए शुरू करते है

apprenticeship आज का पहला क्लास

आज आपका apprenticeship का पहला क्लास है जिसमे आज आपको हटमल के बारे में बताया जायेगा की हटमल को हम कैसे प्रयोग कर सकते है हटमल को प्रयोग करने के लिए आपको इसके बारे में आपको जानना बहुत ही आवश्कत है की क्या होता है जिसने इसे बनाया था कब बना था आदि

इन सभी के बारे में मैंने बहुत ही डिटेल से बता चुके है और आप सभी के लिए वह पोस्ट उपयोगी रहा अगर आप हटमल की जानकारी और जानना चाहते है तो में आपको हटमल की लिंक दे दे रहे है जिसे आप आसानी से पढ़ सकते है क्योकि हमे केवल वेबसाइट को बनाने के लिए हटमल को जानना  आवश्यक है जो स्टूडेंट हटमल को डिटेल्स से पढना चाहते है तो वह लिंक के मध्यम से पढ़ ले

इसे भी पढ़े –

अब आपको हटमल के बेसिक structure के बारे में बनाया जा रहा है

नोट:-याद रहे आपको apprenticeship में ज्यादा प्रैक्टिस ही होगा theory आपको बहुत ही हम बनाया जायेगा

ये आपका हटमल का बेसिक structure होता है

<html>
<head>
<title><title>
</head>
<body>
</body>
</html>
<title>
</head>
<body>
</body>
</html>

इसमे आपको देखा होगा की हमने doctyple html का प्रयोग नहीं किया है तो हम बता दे की कुछ टैग्स html को सपोर्ट करते है तो उनके लिए तो आप उपर दिए गए हटमल के बेसिक code का प्रयोग कर सकते है लेकिन अगर हम html5 के बात करे तो html5 के लिए आपको इस code के शुरू में आपको doctype html को डिफाइन करना होगा

html5 code

<DOCTYPE html>
<html>
<head>
<title></title>
</head>
<body>
</body>
</html>

Points

  1. <html> elements  आपका हटमल पेज का root एलिमेंट होता है
  2. <head> element हटमल के पेज में कंटेंट मेटा इनफार्मेशन होता है
  3. <title> element specifie की आपको ब्राउज़र में title बार में क्या दिखाना चाहते है जैसे की आपका नाम
  4. <body> element में आप जितने में कंटेंट टैग्स लिंक आदि को प्रयोग करना उसे मोदिफिए करना आदि के लिए किया जाता है

बाते-

हमने आपको पहले से बता दिए है की हम केवल कुछ ही डिटेल्स से बनायेंगे अगर आपको इसके बारे में पता न हो तो कृपा करके आप उपर दिए गए लिंक को क्लिक करके डिटेल से पढ़ सकते है यहाँ आपका 90% प्रैक्टिस होगा क्योकि हम लोगो को वेबसाइट बनाना सीखना है

टैग्स (tags)

टैग्स आपके दो प्रकार के होते है single unpaired tag और दूसरा आपका paired tag होता है अगर हम single टैग्स की बात करे तो उसमे आपका केवल एक ही tag का प्रयोग करते है और उसी में ही slash(/) का प्रयोग कर दिया जाता है जैसे की

<br/> ,<img/> ,<meta> .<input/> आदि

और भी है जब हम coding करेंगे तो आपको मिलता चला जायेगा

अगर हम इस tag में / slash का प्रयोग न भी करे तो कोई फर्क नहीं पड़तालेकिन कभी कभी पढ़ भी जाता है इस लिए हमारी आपसे सलाह है की अगर इस tag को इस तरह से बनाया गया है की आप प्रयोग जरुर करे

pairted tag या आपका container tag को आप जानते ही होंगे ये आपके वे tag होते है जो की दोनों tag एक साथ आते है यानी की starting tag होता है तो उसका क्लोजिंग tag भी होता है जैसे की

<p> </p> ,<h1></h1> आदि

इसमे आपका / slash आपका क्लोजिंग tag के पहले आता है

head session tag

head session के सभी tag को आप body session में प्रयोग कर सकते है लेकिन आप body session के जितने भी टैग्स है उन सभी को आप head session के अंदर प्रयोग नहीं कर सकते है

head session की list

<link>
<style></style>
<meta></meta>
<base/>
<command></command>
<title></title>
<noscript></noscript>
<meta></meta>

महत्वपूर्ण बिंदु

1.हटमल को webpage को डिजाईन करने के लिए किया जाता है

2.हटमल में pre-defined tags होते है

3.वेब पेज आपके दो प्रकार के होते है static और dynamic

4. html को आप .html या फिर .htm के द्वारा सेव करते है

html in hindi part1

https://allsitein.com/course-name/ccc-course/

निवेदन-आप सभी छात्र छात्रो से निवेदन है की अगर आपको यह कंटेंट( html in hindi part1 ) आपके लिए उपयोगी(html in hindi part1 ) रहा हो तो आप दुसरे के साथ भी शेयर करे अपने तक ही सिमित न रखे धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *